Breaking News
हीटवेव से जूझ रहे देश के अधिकाशं हिस्से, 41,789 लोग हीटस्ट्रोक से पीड़ित
जल संरक्षण और संवर्द्धन को जल आंदोलन के रूप में लिया जाए- सीएम
सीएम केजरीवाल को जमानत देने के आदेश के खिलाफ ईडी ने उच्च न्यायालय का किया रुख, अब सुनवाई करेगा हाईकोर्ट 
योग हमें स्वावलंबन की सनातन परंपरा से जोड़ता है- महाराज
क्रू ने बनाया रिकॉर्ड, बनी 2024 में नेटफ्लिक्स पर सबसे ज्यादा देखी गई भारतीय फिल्म
सीएम धामी ने आदि कैलाश में किया योग 
पूरी रात सोने से बाद भी सुबह बेड से उठने का मन नहीं करता है तो आपको है ये गंभीर परेशानी…जानिए
देवभूमि में आज बही योग की गंगा, मुख्यमंत्री सहित मंत्री, विधायकों, शहरवासियों व गांववासियों ने किया योग
देहरादून कैंट रोड के चौड़ीकरण में अब नही कटेगा एक भी पेड़, सीएम धामी ने दिए निर्देश

महंगी पड़ सकती है बार-बार बॉडी चेकअप कराने की आदत, आपको बना सकती है बीमार

तेजी से बदलती लाइफस्टाइल कई बीमारियों को बढ़ावा दे रही है. लोग अलग-अलग बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं. जिसकी पहचान के लिए उन्हें बॉडी चेकअप की जरूरत पड़ती है। कुछ लोग शरीर में जरा सा बदलाव होने पर ही फुल बॉडी चेकअप करवाने पहुंच जाते हैं। बार-बार वे ऐसा ही करते हैं. अगर आप भी ऐसा कर रहे हैं तो सावधान हो जाइए, क्योंकि ये खतरनाक हो सकता है. हेल्थ एक्सपर्ट्स इससे बचने की सलाह देते हैं।

फुल बॉडी चेकअप क्यों खतरनाक
अगर आप बार-बार फुल बॉडी चेकअप करवाने के लिए डॉक्टर के पास पहुंच जाते हैं तो इस आदत को बदल लीजिए, वरना महंगा पड़ सकता है। इससे आप मानसिक तौर पर बीमार हो सकते हैं. हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि इससे शरीर को कई दिक्कतें हो सकती हैं, जो आगे चलकर आपकी सेहत के लिए परेशानी कारण बन सकती हैं, इसलिए जबरदस्ती का चेकअप करवाने से बचें और जरा-जरा सी बात पर अस्पताल न जाएं।

फुल बॉडी चेकअप ऑफर इग्नोर करें  
हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार,  कई बार पैथोलॉजी कंपनियां कस्टमर्स को फुल बॉडी चेकअप का ऑफर देती हैं. कम दाम में फुल बॉडी चेकअप जैसी सुविधा वाले ऑफर के चक्कर में न पड़े, क्योंकि कई बार कंप्यूटर पर चेकअप के दौरान कोई कमी हाइलाइट कर दी जाती है। कभी कैल्शियम या विटामिन डी की कमी बता दी जाती है, जिससे दिमाग में एक डर बैठ जाता है और फिर बार-बार चेकअप करवाने लगते हैं।

कब करवाएं फुल बॉडी चेकअप
आप जितनी बार फुल बॉडी चेकअप के लिए जाते हैं, उतनी बार आपका ब्लड निकाला जाता है. जब कुछ कमी बताई जाती है तो लोग दिमाग में भ्रम बैठाकर इलाज करवाने लगते हैं, जो आगे चलकर परेशानी का कारण भी बन सकता है। इसलिए कभी भी बिना डॉक्टर की सलाह के फुल बॉडी चेकअप न करवाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top