Breaking News
हीटवेव से जूझ रहे देश के अधिकाशं हिस्से, 41,789 लोग हीटस्ट्रोक से पीड़ित
जल संरक्षण और संवर्द्धन को जल आंदोलन के रूप में लिया जाए- सीएम
सीएम केजरीवाल को जमानत देने के आदेश के खिलाफ ईडी ने उच्च न्यायालय का किया रुख, अब सुनवाई करेगा हाईकोर्ट 
योग हमें स्वावलंबन की सनातन परंपरा से जोड़ता है- महाराज
क्रू ने बनाया रिकॉर्ड, बनी 2024 में नेटफ्लिक्स पर सबसे ज्यादा देखी गई भारतीय फिल्म
सीएम धामी ने आदि कैलाश में किया योग 
पूरी रात सोने से बाद भी सुबह बेड से उठने का मन नहीं करता है तो आपको है ये गंभीर परेशानी…जानिए
देवभूमि में आज बही योग की गंगा, मुख्यमंत्री सहित मंत्री, विधायकों, शहरवासियों व गांववासियों ने किया योग
देहरादून कैंट रोड के चौड़ीकरण में अब नही कटेगा एक भी पेड़, सीएम धामी ने दिए निर्देश

एक दिन आगे बढ़ी पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह की तारीख

अब इस दिन तारीख को होगा शपथ ग्रहण समारोह 

लगातार तीसरी बार लेंगे पीएम पद की शपथ 

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2024 के परिणाम आने के बाद से ही हर कोई इस बात का इंतजार कर रहा है कि आखिर नई सरकार कब बनेगी. किसी दिन नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे. दरअसल ऐसा लगातार तीसरी बार होगा जब नरेंद्र मोदी लगातार तीसरी बार पीएम पद की शपथ लेंगे. लोकसभा चुनाव के परिणाम तो 4 जून को घोषित हो गए लेकिन अब तक शपथ ग्रहण समारोह की तारीख को लेकर आधिकारिक जानकारी नहीं मिल रही है. इस बीच खबर आई है कि नरेंद्र मोदी की 8 जून को शपथ टल गई है. जी हां अब मोदी 8 जून को शपथ नहीं लेंगे।

एनडीए की तीसरी सरकार का गठन और शपथ ग्रहण समारोह अब एक दिन आगे बढ़ गया है. सूत्रों के हवाले से मिल रही जानकारी के मुताबिक नरेंद्र मोदी 9 जून रविवार को प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे. उनके साथ कुछ केंद्रीय मंत्री भी शपथ ले सकते हैं. इनमें अमित शाह, राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी से लेकर टीडीपी और जेडीयू के कुछ सांसद भी शामिल होंगे।

बता दें कि केंद्रीय मंत्रिमंडल तय करने को लेकर लगातार मंथन और बैठकों का दौर चल रही है. इसी कड़ी में गुरुवार को बीजेपी नेता जेपी नड्डा के निवास पर सुबह से ही मीटिंग हो रही है. इस दौरान किस दल को क्या मंत्रालय दिया जाए इसको लेकर भी विचार हो रहा है. एनडीए के कुछ सांसद शुक्रवार को भी बैठक करेंगे. इस दौरान औपचारिक रूप से नरेंद्र मोदी को अपना नेता भी चुना जाएगा।

नरेंद्र मोदी भले ही तीसरी बार पीएम पद की शपथ ले रहे हैं. लेकिन इस बार समीकरण अलग हैं. पहले दो टर्म में बीजेपी अपने दम पर बहुमत का आंकड़ा पार कर चुकी थी, लेकिन इस बार बीजेपी के पास 241 सीट हैं. यानी उनकी निर्भरता सहयोगी दलों पर बढ़ गई है। वहीं विपक्षी इंडिया गठबंधन भी 234 सीट हासिल कर चुका है, लिहाजा दोनों ओर से सरकार बनाने के प्रयास हो रहे हैं, ऐसे में जरूरी है कि जितना जल्दी हो सके सरकार बना ली जाए। यही कारण है कि इस बार पीएम मोदी 5 दिन में ही सरकार बना लेंगे. हालांकि इससे पहले 2019 में पीएम मोदी ने नतीजे आने के 7 दिन बाद सरकार बनाई थी, जबकि इससे पहले यानी वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रिजल्ट आने के 10 दिन बाद सरकार बनाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top