Breaking News
हीटवेव से जूझ रहे देश के अधिकाशं हिस्से, 41,789 लोग हीटस्ट्रोक से पीड़ित
जल संरक्षण और संवर्द्धन को जल आंदोलन के रूप में लिया जाए- सीएम
सीएम केजरीवाल को जमानत देने के आदेश के खिलाफ ईडी ने उच्च न्यायालय का किया रुख, अब सुनवाई करेगा हाईकोर्ट 
योग हमें स्वावलंबन की सनातन परंपरा से जोड़ता है- महाराज
क्रू ने बनाया रिकॉर्ड, बनी 2024 में नेटफ्लिक्स पर सबसे ज्यादा देखी गई भारतीय फिल्म
सीएम धामी ने आदि कैलाश में किया योग 
पूरी रात सोने से बाद भी सुबह बेड से उठने का मन नहीं करता है तो आपको है ये गंभीर परेशानी…जानिए
देवभूमि में आज बही योग की गंगा, मुख्यमंत्री सहित मंत्री, विधायकों, शहरवासियों व गांववासियों ने किया योग
देहरादून कैंट रोड के चौड़ीकरण में अब नही कटेगा एक भी पेड़, सीएम धामी ने दिए निर्देश

पीएम मोदी आज मातृशक्ति को करेंगे संबोधित, कार्यक्रम में 25 हजार महिलाएं लेंगी हिस्सा 

कार्यक्रम में महिलाएं ही संभालेंगी संचालन, मंच, व्यवस्था समेत सभी जिम्मेदारियां 

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शाम करीब 5:30 बजे डॉ. संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय में मातृशक्ति सम्मेलन को संबोधित करेंगे। कार्यक्रम में 25 हजार महिलाएं हिस्सा लेंगी। यह पहली बार होगा जब किसी राजनीतिक दल की ओर से इतनी बड़ी तादाद में महिलाओं का सम्मेलन होने जा रहा है। कार्यक्रम की खास बात ये है कि इसमें संचालन, मंच, व्यवस्था समेत सभी जिम्मेदारियां महिलाएं ही संभालेंगी। वाराणसी लोकसभा क्षेत्र के सभी 1909 बूथों से महिलाओं की भागीदारी पार्टी की ओर से सुनिश्चित की गई है। यह कार्यक्रम यूं ही नहीं है, इसके सियासी मायने भी हैं। भाजपा महिला मतदाताओं पर शुरू से ही विशेष ध्यान केंद्रित करती रही है। पूर्वांचल की 13 लोकसभा सीटें गाजीपुर, घोसी, भदोही, वाराणसी, जौनपुर, मछलीशहर, बलिया, मिर्जापुर, आजमगढ़, लालगंज, चंदौली, राबर्ट्सगंज और सलेमपुर। यहां अगले दस दिनों में मतदान होने हैं। इन सीटों पर महिला मतदाताओं की संख्या एक करोड़ 56 लाख 345 है।

इस कार्यक्रम के माध्यम से प्रधानमंत्री इन सभी महिला मतदाताओं को संदेश देंगे। प्रधानमंत्री अलग-अलग क्षेत्र में विशेष कार्य कर रहीं महिलाओं, स्वयं सहायता समूह की महिलाओं से संवाद भी करेंगे। लोकसभा प्रभारी अर्चना मिश्रा और मीना चौबे ने बताया कि नारी शक्ति संवाद कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को रिसीव करने, मंच संचालन, व्यवस्था समेत संपूर्ण दायित्व मातृ शक्ति के कंधे पर ही है। पंडाल में मिनी भारत का स्वरूप भी दिखाई देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top