Breaking News
मिस्टर एंड मिसेज माही का गाना रोया जब तू हुआ रिलीज, विशाल मिश्रा ने लगाए सुर
देश की जनता के आशीर्वाद से निश्चित ही पूरे देश में भाजपा को मिलेगा समर्थन- सीएम धामी
उपराष्ट्रपति ने कैंची धाम पहुंचकर बाबा नीम करौली महाराज के किए दर्शन 
आज शाम थम जाएगा चुनाव प्रचार, एक जून को होगा सातवें चरण के लिए मतदान
किन लोगों को हीट वेव का है सबसे ज्यादा खतरा, लू से कैसे बचाए खुद की जान 
जिलाधिकारी की अध्यक्षता में आयोजित की गई सड़क सुरक्षा समिति की बैठक 
अपने काम की बदौलत दुनिया की प्रभावशाली हस्तियों में शामिल हैं मोदी- महाराज
वैश्विक ऊंचाई पर भारतीय खिलौना कारोबार
शिक्षकों को सम्पूर्ण सेवा काल में एक बार मिलेगा संवर्ग परिवर्तन का मौका

न्यूयॉर्क में जगजीत पवाडिया फिर बनीं अंतरराष्ट्रीय स्वापक नियंत्रण बोर्ड की सदस्य

न्यूयॉर्क। 9 अप्रैल को हुए अंतरराष्ट्रीय स्वापक नियंत्रण बोर्ड (International Narcotics Control Board) के चुनावों में भारत की जगजीत पवाडिया ने जीत हासिल की। जिसके बाद एक बार फिर जगजीत पवाडिया अंतरराष्ट्रीय स्वापक नियंत्रण बोर्ड में शामिल हो गई हैं। ये केवल जगजीत पवाडिया के लिए हा नहीं बल्कि पूरे भारत की उपलब्धि है।

इन चुनावों में पांच सीटों के लिए 24 उम्मीदवार थे, चुनाव अत्यधिक कठिन था। लेकिन जगजीत पवाडिया ने संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक परिषद (ECOSOC) द्वारा आयोजित चुनावों में सबसे अधिक वोट प्राप्त किए। बता दें कि भारत को ECOSOC के 53 वोटिंग सदस्यों में से 41 वोट हासिल हुए जो कि सभी सदस्य देशों में सबसे अधिक थे. 41 वोटों के साथ पवाडिया ने इन चुनावों में शानदार जीत हासिल की वहीं दूसरे स्थान पर रहे उम्मीदवार को 30 वोट हासिल हुए।

डॉक्टर एस. जयशंकर ने ट्विटर पर लिखा, ‘आज, भारत की उम्मीदवार मिस जगजीत पवादिया को न्यूयॉर्क में हुई चुनाव में अंतर्राष्ट्रीय नारकोटिक्स कंट्रोल बोर्ड में पुनः चुनावित किया गया है, 2025-2030 की अवधि के लिए। भारत ने बोर्ड के सभी चुने गए सदस्य राज्यों में सर्वाधिक वोट हासिल किया है।’

आगे विदेश मंत्री ने कहा कि भारत ने सभी निर्वाचित सदस्य देशों के बीच सबसे अधिक वोट हासिल किए हैं। जिसके बाद उन्होंने संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन और विदेश मंत्रालय की टीम की सराहना की और कहा कि उन्होंने अच्छा काम किया।

जगजीत पावडिया साल 2015 से अंतरराष्ट्रीय स्वापक नियंत्रण बोर्ड की सदस्य हैं।उन्हें मई 2019 में 2020 से 2025 के पांच साल के कार्यकाल के लिए परिषद द्वारा चुना गया था. उन्होंने साल 2021 से 2022 तक बोर्ड अध्यक्ष के रूप में भी काम किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top