Breaking News
पीएम मोदी अदाणी और अंबानी के लिए कर रहे काम – राहुल गांधी
नैनीताल में उमड़ी पर्यटकों की भीड़, जगह- जगह लगा लंबा जाम, गुस्साए कारोबारियों ने शुरु किया प्रदर्शन 
बीते 10 सालों में प्रधानमंत्री ने हर पल-हर क्षण देशवासियों को किया समर्पित – मुख्यमंत्री धामी
दौडने के बाद जोड़ो में होता है दर्द? हो सकती हैं ये 5 गलतियां
चारधाम यात्रा में विभिन्न व्यवसायियों ने 200 करोड़ से ज्यादा का किया कारोबार
राजकोट के टीआरपी गेम जोन में लगी भीषण आग, 12 बच्चों समेत 27 लोगों की मौत
सिनेमाघरों के बाद ओटीटी पर धमाल मचाएगी क्रू, नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई फिल्म
हिमाचल में चल रही कांग्रेस की लहर- धीरेंद्र प्रताप
पंजाब में भी आप पार्टी ने खोली भ्रष्टाचार की इंडस्ट्री- मुख्यमंत्री धामी

पटेलनगर में नाबालिक बच्ची ने खुद रची अपने अपहरण की साजिश, यहां जानें क्या है पूरा मामला

देहरादून। उत्तराखंड के पटेलनगर क्षेत्र में नाबालिक बच्ची के अपहरण का खुलासा करते हुए पुलिस ने बताया कि बच्ची का अपहरण हुआ ही नही था। दरअसल बच्ची ने ही अपने माता पिता से अपनी बात मनवाने के लिए खुद ही अपने अपहरण की साजिश रची थी। लेकिन इस मामले की जानकारी होते ही कुछ असामाजिक तत्वो ने इस घटना को सांप्रदायिक रूप देने का प्रयास किया। पुलिस ने बताया कि कुछ लोगों ने बिना सच्चाई जाने इस घटना को विवादास्पद बनाकर सांप्रदायिक रूप दे दिया और लोगों की धार्मिक भावनाएं भड़काने का प्रयास किया। एसएसपी देहरादून ने कहा कि ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनके खिलाफ जल्द ही प्रभावी कार्रवाई की जायेगी।

क्या है मामला
दरअसल 15 अप्रैल को कोतवाली पटेलनगर को सूचना मिली की चमन विहार कालोनी में एक नाबालिक युवती के अपहरण का प्रयास किया गया है। सूचना मिलते ही तत्काल क्षेत्राधिकारी सदर और प्रभारी निरीक्षक पटेलनगर पुलिस बल के साथ मौके पर पहुँचे। घटना के सम्बंध में नाबालिक युवती से जानकारी ली तो युवती ने बताया कि शाम करीब 07 बजे टयूशन से घर आते समय कार सवार 2 लोगों ने उसे खींचकर जबरदस्ती अपनी कार में बैठा लिया लेकिन वहां मौका देखकर वह किसी तरह कार से बाहर निकलकर भाग कर वापस घर आ गई।

मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने जब छानबीन शुरू की तो उन्हें कोई अहम सूराग नही मिला यहां की पुलिस ने युवती के बताए हुए घटनास्थल और अन्य मार्गो के सीसीटीवी कैमरे चैक किये लेकिन वहां सीसीटीवी फुटेज में ऐसी किसी घटना का होना नही पाया गया। जिसके बाद पुलिस ने शक के आधार पर जब नाबालिग युवती की काउंसलिंग की तो मामला कुछ और ही निकला।

दरअसल काउंसलिंग के दौरान नाबालिग ने बताया कि वह इसके पहले ओलम्पस हाईस्कूल में पढ़ती थी लेकिन अब उसके परिजनो ने उसका दाखिला मांउट लिट्रेला जी स्कूल में करा दिया है। लेकिन जब वह 15 अप्रैल को पहली बार अपने नए स्कूल में गई थी तो वहां उसका कोई नया मित्र नही बना और उसका स्कूल में मन नही लगा।

इसलिए उसने अपने पुराने स्कूल में दोबारा दाखिले के लिये यह साजिश रची और अपने परिजनो को स्कूल के पास टयूशन से आते समय 02 व्यक्तियों द्वारा कार से उसका अपहरण करने और मौका पाकर भाग जाने की झूठी कहानी बताई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top