हेल्थ

भीषण गर्मी से निजात पाने के लिए अवश्य करें इन चीजों का इस्तेमाल, जानिए

देहरादून। इन दिनों प्रदेश भर में  जब तापमान 41 पर हो चुका हो तो गर्मी और लू से बचने के लिए सेहत का ध्यान रखना भी जरूरी है। जून के महीने में अधिक गर्मी पड़ रही है। घर से बाहर निकलो तो गर्मी बेहाल करती है और घर पर रहो तो भी चैन नहीं है।

हर वक्त कुछ ऐसा पीने का मन करता है जो तन के साथ मन को भी सुकून दे और सेहत की गारंटी भी हो। घर से बाहर जहां बेल, गन्ना, अन्नानास, मैंगो और बनाना शेक के रेहड़ी पर भीड़ लगी है।

वहीं, घरों में भी सलाद और शरीर में तरावट व ऊर्जा का स्तर बनाए रखने के लिए ठोस आहार की बजाय तरल पेय पदार्थ जैसे ठंडा पानी, नींबू पानी, नींबू शिकंजी, शर्बत, फलों का रस, छाछ, लस्सी ज्यादा मात्रा में ले रहे हैं।

डायटिशियन भी गर्मियों में खुद को हाइड्रेट और रिफ्रेश फील करने के लिए कुछ ऐसे पेय का सेवन करने की सलाह दे रहे हैं, जो पोषक तत्वों से भरपूर व ठंडी होने के साथ सेहत के लिए फायदेमंद हो। इस मौसम में खानपान को लेकर सलाह दे रही हैं डायटीशियन डा. दीपशिखा गर्ग।

इनका करें इस्तेमाल

मेथीदाना चाय हर दिन एक कप लें, एक ग्लास नारियल पानी अथवा नींबू पानी, 15 ग्राम चना सत्तू एक गिलास पानी में मिलाकर पिएं।

टमाटर, खीरा, तरबूज, खरबूजा खूब खाएं। एक गिलास जीरा पानी, सब्जियों का जूस अधिक मात्रा में लें।

हल्का और पचाने वाला भोजन लें, छोले, राजमा, पूरी, मिर्च अधिक मात्रा में लेने से परहेज करें।

दही, छाछ, लस्सी में भूना जीरा अथवा काला नमक मिलाकर सेवन करें।

रेशेदार खाद्य पदार्थ खाएं, भोजन के बीच में लंबा अंतराल न होने दें।

बदहजमी होने पर घर में बने नींबू पानी और पुदीना पानी पीएं।

इन चीजों से करें परहेज

खाने में जंक फूड़ को कम से कम करें, तले-भुने खाने से भी परहेज करें।

गर्म तासीर वाले फल जैसे चेरी, आडू कम से कम मात्रा में लें।

ज्यादातर ड्राइफ्रूट्स में वसा अधिक होती है, इसलिए इस मौसम में इन्हें कम मात्रा में ही लें।

ज्यादा समय खाना पैक रहने से बैक्टीरिया पनपने की संभावना बन जाती है, ऐसे में लंच टिफिन को पांच से छह घंटे के अंदर खा लें।

गर्मियों के मौसम में चाय और गर्म काफी से परहेज करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *