उत्तराखंड

उत्तराखंड में लगातार हो रहे सड़क हादसों ने बढ़ाई सरकार की चिंता, राज्य में दुर्घटनाओं के प्रति संवेदनशील स्थानों की संख्या 2500 से अधिक

देहरादून। उत्तराखंड में लगातार हो रहे सड़क हादसों ने भाजपा सरकार की चिंता बढ़ा दी है। राज्य में चारधाम यात्रा शुरू होने के बाद से सड़क हादसों का आकड़ा लगातार बढ़ा है। राज्य में इस वक्त 46 ब्लैक स्पॉट ऐसे हैं, जिन पर सुरक्षा इंतजामात नहीं हैं। जबकि दुर्घटनाओं के प्रति संवेदनशील स्थानों की संख्या 2533 के करीब हो चुकी है। 2533 संवेदनशील स्थानों में 733 पर डीपीआर-टेंडरिंग चल रही है। जबकि इनमें 65 पर तो अब तक काम भी शुरू नहीं हो पाया। आपके अपने अखबार हिन्दुस्तान ने शुक्रवार को सड़क हादसों के प्रति संवेदनशील क्षेत्र में सुरक्षा इंतजाम की पड़़ताल की तो यह तस्वीर सामने आई।

टिहरी गढ़वाल
टिहरी में यात्रा शुरू होने से पहले 386 संवेदनशील क्षेत्र चिह्नित किये गये। इनमें156 स्थानों पर सुरक्षा इंतजाम आधे अधूरे हैं। जिले में इस वक्त छह स्थान साकनीधार, मूल्यागांव, तोताघाटी, तीन धारा, सूल्याधार व कंगसाली ब्लैक स्पॉट चिह्नित हैं। एआरटीओ चक्रपाणि मिश्रा ने बताया कि अधिकांश ब्लैक स्पाट पर सुरक्षा के कार्य करवाये गये हैं, लेकिन तोताघाटी में भूस्खलन से एक्सीडेंट जोन बना हुआ है।

उत्तरकाशी 
उत्तरकाशी में सड़क हादसे के लिहाज से गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर 11 तथा यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर 14 संवेदनशील क्षेत्र हैं। इनमें किसी भी पर सुरक्षा का इंतजाम नहीं है। यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर तीखे मोड़ों पर भी साइन बोर्ड के साथ ही क्रश बैरियर भी नहीं लगे हैं।  डामटा और नौगांव के पास रिखाऊ खड्ड के आसपास दुर्घटनायें घट चुकी है। इनमें पचास से अधिक लोग जान गवां चुक हैं।

पौड़ी गढ़वाल
श्रीनगर में सड़क हादसों के लिहाज से तीन ब्लैक स्पॉट मुख्य रूप से थे। जिनमें से श्रीयंत्र टापू के समीप मालढैंया व फरासू हनुमान मंदिर के पास सड़क चौड़ीकरण व पैराफीट बनाकर सुरक्षा के उपाय किए गए हैं। हाल ही में ब्लैक स्पॉट बना धारी देवी मंदिर के समीप चमधार में अभी सुरक्षा के सड़क सुरक्षा के लिहाज से कार्य पूरा नहीं हो पाया है।

देहरादून 
देहरादून जिले की सड़कों पर 49 ब्लैक स्पॉट हैं। मसूरी रोड पर शिव मंदिर, मैगी प्वाइंट, डीआईटी, साईं मंदिर, एनआईवीएच, चकराता रोड पर किशननगर, शनि मंदिर, शिमला बाइपास, धर्मावाला, आईटी पार्क, ऋषिकेश में सात मोड, काली मंदिर, आरटीओ दफ्तर के पास ब्लैक स्पॉट हैं। इन 19 स्पॉट पर अब तक सुरक्षा के कार्य नहीं हुए है।

परिवहन मंत्री चंदनराम दास संवेदनशील स्थानों पर सुरक्षा के इंतजाम कराए जा रहे हैं। निर्माण एजेंसियों और विभागों को ब्लैक स्पॉट और हादसों की अधिकता वाले क्षेत्रों में प्राथमिकता सुधार करने के निर्देश दिए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *