हेल्थ

गर्मियों का सबसे पसंदीदा फल है लीची, सेवन से होते हैं ये कमाल के फायदे

लीची गर्मियों का सबसे पसंदीदा फल है। स्वाद और फ्लेवर ही नहीं लीची में आपको सेहत का खजाना भी मिलता है। गर्मियों में आने वाले ज्यादातर फलों में पानी की मात्रा अच्छी होती है। ठीक इसी तरह लीची में भी पानी की भरपूर मात्रा होती है। यह विटामिन सी, विटामिन बी6, नियासिन, राइबोफ्लेविन, फोलेट, तांबा, पोटेशियम, फास्फोरस, मैग्निशियम और मैगनीज जैसे खनिज पाए जाते हैं, यह शरीर और पेट को ठंडक देती है। पाचन क्रिया सही रखने के साथ ही मस्तिष्क के विकास में भी इसकी बड़ी भूमिका है। लीची में विटामिन-सी भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। प्रति 100 ग्राम लीची में विटामिन-सी की मात्रा 71.5 मिलीग्राम होती है, जो प्रतिदिन की आवश्यकता का 119 प्रतिशत है । तो चलिए आइए विस्तार से जानते है लीची के फायदों के बारे में…

पाचन के लिए फायदेमंद
लीची में मौजूद विटामिन लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण और पाचन-प्रक्रिया के लिए जरूरी है। लीची के रस में पेक्टिन और फाइबर होता है। यह आपकी आंत को साफ करने और पेट के स्वास्थ्य में सुधार करता है। इसके अलावा, यह एसिडिटी और हार्टबर्न के खिलाफ भी काम करता है।

गले की खराश
गले में खराश या दर्द हो तो आप एक लीची खा सकते है। दरअसल, गले की शराश को कम करने में भी लीची बहुत फायदेमंद है।

ग्लोइंग त्वचा के लिए
लीची के जूस में पॉलीफेनोल, ऑलिगोनोल्स, बीटा-कैरोटीन, विटामिन सी और अन्य एंटीऑक्सिडेंट जैसे जैव-रासायनिक पदार्थों की प्रचुर मात्रा होती है। ये सभी एंटी-ऑक्सीडेंट डार्क सर्कल्स और पिंपल्स को दूर करने में सहायक होते हैं। इतना ही नहीं यह आपकी उम्र बढऩे की प्रक्रिया को भी धीमा करने में सहायक होते है। आप अपनी त्वचा पर लीची के और केले का फेस मास्क बनाकर, इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं, यह मुहासों को ठीक करने में सहायक है।

सेहत का खजाना
लीची को बतौर फल ही नहीं खाया जाता, इसका जूस और शेक भी बहुत पसंद किया जाता है। जैम, जैली, मार्मलेड, सलाद और व्यंजनों की गार्निशिंग के लिए भी लीची का इस्तेमाल किया जाता है। छोटी-सी लीची में कार्बोहाइड्रेट, विटामिन सी, विटामिन ए और बी कॉम्प्लेक्स, पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, आयरन जैसे खनिज लवण पाए जाते हैं, जो इसे काफी फायदेमंद बना देते हैं।

इम्यूनिटी बढ़ाती है
लीची एक अच्छा ऐंटीऑक्सिडेंट भी है। लीची में बीटा कैरोटीन, नियासिन, राइबोफ्लेविन और फोलेट भरपूर होता है। यह सभी चीजें बॉडी के इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने में मददगार होती हैं। इसमें मौजूद विटामिन सी हमारे शरीर में रक्त कोशिकाओं के निर्माण और लोहे के अवशोषण में भी मदद करता है, जो एक प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाए रखने के लिए जरूरी है।

वजन कम करने में सहायक
अगर आप बढ़ते वजन से परेशान है तो आप लीची जूस का सेवन शुरू कर दे। क्योंकि लीची फाइबर और पानी से भरी हुई है। इसमें कोई फैट नहीं होता है और कैलोरी में भी लो होता है। लीची जूस या लीची खाने से आपकी खाने की लालसा कम हो जाती है और आपको पेट भरा हुआ महसूस होता है। यदि आप वजन घटाने की कोशिश करते हैं या इच्छा रखते हैं, तो आप लीची के जूस का नियमित सेवन करें।

पेट के लिए फायदेमंद
हल्के दस्त, उल्टी, पेट की खराबी, पेट के अल्सर और आंतरिक सूजन से उबरने में लीची का सेवन फायदेमंद है। यह कब्ज या पेट में हानिकारक टॉक्सिन के प्रभाव को कम करती है। गुर्दे की पथरी से होने वाले पेट दर्द से आराम पहुंचाती है।

ऊर्जा का प्रमुख स्रोत
लीची ऊर्जा का स्रोत है। थकान और कमजोरी महसूस करने वालों के लिए लीची बहुत फायदेमंद है। इसमें मौजूद नियासिन हमारे शरीर में ऊर्जा के लिए आवश्यक स्टेरॉयड हॉर्मोन और हीमोग्लोबिन का निर्माण करता है।

हड्डियां मजबूत बनाने में
लीची में कैल्शियम, फॉस्फोरस और मैग्नीशियम मौजूद होते है, जो शारीरिक विकास में अहम भूमिका निभाते हैं और हड्डियों के लिए बहुत अच्छे हैं। लीची हड्डियों की बीमारी ऑस्टियोपोरोसिस रोकने में सहायक है।

पानी की आपूर्ति करती है
लीची का रस एक पौष्टिक तरल है। यह गर्मी के मौसम से संबंधित समस्याओं को दूर करता है और शरीर को ठंडक पहुंचाता है। लीची हमारे शरीर में संतुलित अनुपात में पानी की आपूर्ति करती है।

प्रजनन स्वास्थ्य और कैंसर-रोधी
यदि आप नियमित रूप से लीची के रस का सेवन करते हैं, तो यह प्रजजन स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में भी मददगार है। इसके अलावा, इसमें अलग-अलग फाइटो-रसायन पदार्थ हैं जैसे- फ्लेवोनोइड, पॉलीफेनोल, विटामिन सी और प्रोएन्थोसायनाइड्स। यह सभी फ्री रेडिकल्स से लडऩे में मददगार हैं और कैंसर के खतरे को कम करने में सहायक।

सर्दी-जुकाम से बचाव
लीची विटामिन सी का बहुत अच्छा स्रोत होने के कारण खांसी-जुकाम, बुखार और गले के संक्रमण को फैलने से रोकती है।

बालों को लंबा करने और मजबूत बनाने के लिए
लीची में कॉपर की उपस्थिति होती है, जिसके कारण यह आपके बालों को बढ़ाने में मदद करता है। आप लीची के जूस के सेवन के अलावा, लीची के रस को आप बालों में लगा सकते हैं। इसके लिए आप लीची और एलोवेरा के 2 छोटे चम्मच रस लें। अब आप इसे अच्छी तरह से मिलाएं और अपने बालों के रोम पर समान रूप से मालिश करें। लगभग 15 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर इसके बाद बालों को धो लें।

ब्लड प्रेशर पर नियंत्रण
लीची में काफी पॉटेशियम और सोडियम होता है। यही वजह है कि लीची खाने से नसों में खून का संचार सही रहता है और इस वजह से ब्लड प्रेशर भी नियंत्रित रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *