राष्ट्रीय

फर्जी दस्तावेजों से फ्लैट की रजिस्ट्री कराने में आठ पर केस दर्ज

गाजियाबाद। विजय नगर थाना क्षेत्र के प्रताप विहार सेक्टर-12 में फर्जी दस्तावेजों से फ्लैट की रजिस्ट्री कराने का मामला सामने आया है। पीड़ित ने कोर्ट के आदेश पर आठ लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस का कहना है कि मामले की जांच कर आगामी कार्रवाई की जाएगी।

प्रताप विहार में रहने वाले रमेश चंद का कहना है कि उन्होंने वर्ष 2015 में ओम सिंह नाम के व्यक्ति से 180 वर्ग मीटर का प्लॉट खरीदा था। वर्ष 2003 में यह प्लॉट आशा बहल को जीडीए से आवंटित हुआ था, जिसके बाद आशा बहन 2015 में प्लॉट की रजिस्ट्री ओम सिंह के नाम कर दी थी। रमेश चंद का कहना है कि ओम सिंह से प्लॉट खरीदकर उन्होंने चार मंजिल में आठ फ्लैट बनाए और वर्ष 2016-17 में अलग-अलग लोगों को बेच दिए। बाद में उन्हें पता चला कि रामप्रस्था ग्रीन निवासी अजय अरोड़ा और शालीमार गार्डन निवासी सुमित सक्सेना ने फर्जी दस्तावेज तैयार किए और एक महिला को आशा बहल बनाकर सभी फ्लैटों की रजिस्ट्री अन्य लोगों को कर दी। रमेश चंद का कहना है कि फर्जीवाड़े का पता लगने पर उन्होंने विरोध किया तो आरोपियों ने गाली-गलौज करते हुए उन्हें जान से मारने की धमकी दे डाली। घटना के संबंध में उन्होंने पुलिस से शिकायत की, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

जिसके चलते कोर्ट की शरण लेनी पड़ी। विजयनगर एसएचओ योगेंद्र मलिक का कहना है कि कोर्ट के आदेश पर अजय अरोड़ा, आशा बहल बनने वाली अज्ञात महिला, सुमित सक्सैना, फारुख आजम, शिव कुमार, जितेंद्र शर्मा, लव भारद्वाज, धर्म सिंह व अन्य अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *