राष्ट्रीय

कश्मीर और पंजाब की सीमाएं सील किए जाने के बाद नशा तस्करों ने बदला रास्ता

पंजाब। पंजाब और जम्मू-कश्मीर की सीमा पर सख्ती के बाद तस्करों ने अब समुद्र का रास्ता अपनाना शुरू कर दिया है। दिलचस्प है कि नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो और डीआरआई को इनपुट पंजाब पुलिस से मिल रहा है। पंजाब पुलिस ने लगातार दो बार केंद्रीय एजेंसियों को इनपुट दिया गया और दोनों बार ज्वाइंट ऑपरेशन में बड़ी तादाद में हेरोइन बरामद की गई। दरअसल, कश्मीर और पंजाब की सीमाएं सील किए जाने के बाद अब 1214 किलोमीटर लंबे गुजरात के समुद्री क्षेत्र का उपयोग ड्रग्स माफियाओं द्वारा किया जा रहा है।

पिछले साल 13 सितंबर को गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह पर जब डायरेक्टर ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस ने 3000 किलो हेरोइन पकड़ी तो देश की तमाम सुरक्षा एजेंसियां हिल गईं। तस्वीर साफ हुई कि पंजाब के ड्रग तस्करों का इस खेप में पूरा हाथ था और उन्होंने यह हेरोइन मंगवाने के लिए पंजाब से सटी पाक सीमा नहीं, बल्कि समुद्री रास्ता अख्तियार किया था। देश की सुरक्षा एजेंसियों की चिंता बढ़ने लगी है, क्योंकि पंजाब के ड्रग तस्करों का सीधा कनेक्शन अफगानिस्तान में बन गया है।  यह भी सामने आ रहा है कि पंजाब के कुख्यात तस्कर विदेश में बैठकर इस नेटवर्क को ऑपरेट कर रहे हैं। दिल्ली में 354 किलो हेरोइन की खेप हो या अमृतसर में 2700 करोड़ की हेरोइन बरामदगी का मामला, हर केस में गांव वजीर भुल्लर के नवप्रीत नव पर जाकर जांच अटक रही है। नवप्रीत नव हेरोइन तस्कर ही नहीं, बल्कि हथियारों का सौदागर भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *